हिमाचल में अब कक्षा दो से पढ़ाई जाएगी संस्कृत… शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने किया ऐलान

November 20, 2019 | samvaad365

धर्मशाला: हिमाचल प्रदेश के शिक्षामंत्री सुरेश भारद्वाज ने जानकारी देते हुए कहा कि संस्कृत विषय की पढ़ाई अब स्कूलों में कक्षा दो से ही शुरू कर दी जाएगी। मंगलवार को धर्मशाला में शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने बताया कि हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड की बैठक में शैक्षणिक विषयों पर विशेष रूप से विचार किया गया। जिसके तहत अब शिक्षा में फेरबदल करते हुए संस्कृत की पढ़ाई दूसरी कक्षा से ही शुरू कर दी जाएगी। वहीं उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि शतरंग और योग का सिलेबस, जिसे एससीईआरटी ने बनाया है, को भी अप्रूव कर दिया गया है।

वहीं अब प्रदेश में गुणवत्तापूर्ण व संस्कारयुक्त शिक्षा मिले, इसके लिए सिलेबस में कई परिवर्तन किए गए हैं। इतना ही नहीं शिक्षा मंत्री ने कहा कि आजकल बहुत से स्कूल डम्मी एडमिशन करते हैं और बच्चे बाहर जाते हैं। ऐसे कार्यों को रोकने के लिए शिक्षा बोर्ड सर्विलांस कमेटी बनेगी और कोई विद्यालय ऐसी गतिविधियों में संलिप्त पाया तो उसकी संबद्धता रद्द कर दी जाएगी। इसके अतिरिक्त जहां पहले 40 बच्चों पर एक इनविजिलेटर लगाया था, अब 25 बच्चों पर एक इनविजिलेटर रखा जाएगा. ऐसा इसलिए किया गया है कि क्योंकि कई स्कूलों में कमरे छोटे होते हैं, जिनमें 40 बच्चे नहीं बैठ पाते हैं। आपको बता दें कि फिलहाल प्रदेश में कक्षी छह से संस्कृत की पढ़ाई शुरू होती थी लेकिन अब कक्षा दो से ही बच्चों को संस्कृत विषय पढ़ाया जाएगा।

यह खबर भी पढ़ें-बैंकाॅक में रूद्रप्रयाग के विरेंद्र रावत ने बढ़ाया रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की थाली का जायका…

यह खबर भी पढ़ें-उद्योगों के अनुकूल वातावरण के सृजन पर दिया जा रहा है विशेष ध्यान: सीएम रावत

संवाद365/काजल

436220cookie-checkहिमाचल में अब कक्षा दो से पढ़ाई जाएगी संस्कृत… शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने किया ऐलान
43622

You may also like