आईएमए परेड के साथ ही 592 नौजवान भारत माता की सेवा को तैयार

December 8, 2018 | samvaad365

देहरादून के भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) और गया के ऑफिसर ट्रेनिंग एकेडमी आज पासिंग आउट परेड के बाद देश को कुल 592 युवा अफसर मिलेंगे। देहरादून आईएम से 427 तो वहीं गया से 165 युवा अफसर बनकर निकलेंगे। देहरादून आईएमए मुख्य अतिथि सह सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अंबू ने परेड की सलामी लेकर निरीक्षण किया वहीं गया में रॉयल आर्मी भूटान के मुख्य ओरेशन अधिकारी लैफ्टिनेंट जनरल बातू तशेरिंग मल्टी एक्टिविटी पीओपी के मुख्य अतिथि रहे।

भारत माता तेरी कसम, तेरे रक्षक बनेंगे हम। आइएमए गीत पर कदमताल करते जेंटलमैन कैडेट ड्रिल स्क्वायर पहुंचे, तो लगा कि विशाल सागर उमड़ आया है।

देहरादून आईएमए से भारतीय सेना को आज 347 युवा अफसरों की टोली मिल जाएगी। इसके अलावा 10 मित्र देशों के 80 कैडेट भी आईएमए से कड़ा प्रशिक्षण लेकर अपनी-अपनी सेना का हिस्सा बनेंगे। बतौर सैन्य अधिकारी सेना में शामिल होने जा रहे कैडेट्स को सैन्य परंपराओं का निर्वहन कर आगे बढ़ना होगा। अब सेना की प्रतिष्ठा इन युवा अफसरों के कंधों पर है। उन्हें चरित्र, सामर्थ्य , प्रतिबद्धता व संवेदना के सेना के मूल्यों को भी जीवन में आत्मसात करना होगा। कुल 427 कैडेट आज पास आउट होंगे।

वहीं बिहार के गया स्थित ऑफिसर ट्रेनिंग एकेडमी से 165 कैडेट्स अफसर बनेंगे। इसमें बिहार के 5 और उत्तर प्रदेश के सबसे ज्यादा 40 कैडेट्स अफसर बनेंगे।

इन्हें दिए गए पदक 

उप सेना प्रमुख ने कैडेट्स को ओवरऑल बेस्ट परफारमेंस व अन्य उत्कृष्ट सम्मान से नवाजा। अर्जुन ठाकुर को स्वार्ड ऑफ ऑनर व स्वर्ण पदक प्रदान किये गए।

रजत पदक गुरवीर सिंह तलवार को दिया गया। जबकि, हर्ष बंसीवाल ने सिल्वर मेडल (टीजी) हासिल किया। कांस्य पदक गुरवंश सिंह गोसाल को मिला।सर्वश्रेष्ठ विदेशी कैडेट बिशाल चंद्र वाजी चुने गए। चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ बैनर सैंगरो कंपनी को मिला।

यह ख़बर भी पढ़ें- ऑस्ट्रेलियन तकनीक से उत्तराखंड के इस शहर में बनाई जाएगी साढ़े चार सौ मीटर लंबी सुरंग

यह ख़बर भी पढ़े- युवा कल्याण विभाग, देहरादून द्वारा युवा महोत्सव 2018 का आयोजन

देहरादून/संध्या सेमवाल

 

26958

You may also like