चमोली के इस क्षेत्र में नहीं है डॉक्टर्स, दो डॉक्टरों के तबादले पर ग्रामीणों ने सीएम को भेजा ज्ञापन

December 16, 2018 | samvaad365

सरकारें भले ही पहाडों की स्वास्थ्य सुविधाओं को दुरस्थ बनाने के लिए डॉक्टरों को पहाड़ भेजने के वादे और दावे तो करती है, लेकिन यहां डॉक्टर आने तो दूर रहे अब कोर्ट के आदेश के बाद यूपी कैडर के डा0 राजीव शर्मा सर्जन और महिला रोग विषेशज्ञ डा0 उमा शर्मा को यूपी के लिए अवमुक्त किये जाने के आदेश के बाद कर्णप्रयाग के लोगों में काफी रोष और सरकार के प्रति नाराजगी देखने को मिल रही है। जिससे नाराज लोगों ने तहसीलदार के माध्यम से मुख्यमंत्री और राज्यपाल को ज्ञापन भेजा। लोगों का कहना है कि अगर दोनों डॉक्टरों का तबादला नहीं रोका गया तो आन्दोलन किया जायेगा।

चमोली जिले के केन्द्र बिन्दु कर्णप्रयाग के अस्पताल के सीएमएस डा0 राजीव शर्मा और डा0 उमा शर्मा के स्थानान्तरण की खबर सुनते ही कर्णप्रयाग के क्षेत्रीय लोगों में सरकारों और जनप्रतिनिधियों के प्रति खासी नाराजगी बनी हुई है। जिससे कर्णप्रयाग के लोगों ने तहसीलदार के माध्यम से सूबे के राज्यपाल और मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा।

लोगों का कहना है कि चार धाम यात्रा के मुख्य केन्द्र कर्णप्रयाग के अस्पताल में मरीजों की संख्या को देखते हुए डॉक्टरों की कमी बनी हुई है, लेकिन बीते कई समय से डा0 राजीव शर्मा और उनकी पत्नी डा0 उमा शर्मा पहाडों की जनता की सेवा कर रहे है, लेकिन कोर्ट के फरमान के बाद इन दोनों डॉक्टरों को उत्तर प्रदेश के लिए अवमुक्त किये जाने से चमोली जिले की जनता में सरकारों और जनप्रतिनिधियों के प्रति उबाल आ गया है। लोगों का कहना है कि सरकारों को यहां डॉक्टर भेजने तो दूर रहे जो डॉक्टर यहां सेवा दे रहे हैं उन्हे भी यहां से मैदानी क्षेत्रों की ओर भेजा जा रहा है। लोगो का कहना है कि अगर शीघ्र ही दोनों डॉक्टरों का तबादला नहीं रोका गया तो आन्दोलन किया जायेगा।

यह खबर भी पढ़ें-नौगांव स्पोर्ट क्लब गरखेत में खेलकूद एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम का भव्य आयोजन

यह खबर भी पढ़ें-दुबई में यूएई उत्तराखंड एसोसिएशन के तत्वावधान में आयोजित कौथिग 2018 में पहुंचे माता मंगला जी एवं श्रीभोलेजी महाराज

चमोली/पुष्कर नेगी

27590

You may also like