बागेश्वर में फूड पॉइजनिंग के मरीजों से मिलने पहुंचे पूर्व सीएम भगत सिंह कोश्यारी और कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत

December 3, 2018 | samvaad365

बागेश्वर जनपद के कपकोट ब्लॉक व तहसील के दूरस्त गांव बास्ती में पांच  दिन पहले  शादी समारोह के बाद फूड पॉइजनिंग के शिकार हुये ग्रामीणों का हालचाल जानने पूर्व मुख्यमंत्री व नैनीताल सांसद भगत सिंह कोश्यारी बागेश्वर जिला अस्पाताल पहुंचे। वहीं कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत भी फूड पॉइजनिंग का शिकार हुए लोगों से मिलने पहुंचे। उन्होंने कहा कि शासन-प्रशासन की तरफ से इस मामले में हरसंभव मदद की जा रही है। उन्होंने इस हादसे से सबक लेने की भी बात कही।

वहीं जनप्रतिनिधियों के इस जिला अस्पताल दौरे  के दौरान अचानक एक बुरी खबर हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल से आई, सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती एक साठ साल की बुजुर्ग महिला जो वेंटिलेटर पर जिंदगी की जंग लड़ रही थी उनकी मौत हो गई। यह खबर सुनने के बाद दौरे पर आए जनप्रतिनधि फौरन अस्पताल का निरिक्षण करने के लिए  हेली पेड पर पहुंचकर पिथौड़गढ के बेरीनाग अस्पताल के लिए रवाना हुए। उसके बाद सभी जनप्रतिनिधि हल्द्वानी के मेडिकल कॉलेज सुशीला तिवारी अस्पताल  में मरीजों का हालचाल पूछने के लिए रवाना हो गए।

वहीं जिला प्रभारी मंत्री रेखा आर्या का जिले में न पहुंचना विपक्षी दलों के लिए मुद्दा बन गया है। विपक्षी दलों ने रेखा आर्या पर तंज कसते हुए कहा है कि उन्हें अपने कर्तव्यों का जरा भी ध्यान नहीं है। वहीं, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट भी इस बात को मीडिया के कैमरे  में टालते हुए नजर आये। उन्होंने बताया की जिले में जिन अस्पतालों में इस घटना से संबंधित मरीजों का इलाज चल रहा है वहां स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को मरीजों की सभी दवायें और रक्त के सभी टैस्ट निःशुल्क करने के निर्देश दिये गए हैं। मरीजों को वहीं स्वास्थ्य विभाग के आकड़ो  के अनुसार अब तक  बास्ती और गडेरा सहित आसपास के करीब 250 से अधिक फूड प्वाइजनिंग के शिकार हो चुके हैं।  जिला प्रशासन लगातार मोनेट्रिंग  बनाए रखे हुए है।  बताते चलें कि पिथौड़गढ जिला अस्पताल में फूड पॉइजनिंग के 9 मरीज, बागेश्वर  जिला अस्पताल में 14, कांडा अस्पताल में 02, अल्मोड़ा  बेस में 32 और सुशीला तिवारी अस्पताल में  45 मरीज भर्ती हैं।

यह खबर भी पढ़ें-नगर निगम कार्यालय में मेयर सुनील उनियाल गामा का हुआ जोरदार स्वागत

यह खबर भी पढ़ें- जोशीमठ में खेल का मैदान बना पार्किंग स्थल, खिलाड़ियों में मायूसी

बागेश्वर/हिमांशु गढ़िया

26490

You may also like