जौनसार में बिस्सू पर्व का आगाज़, लोगों ने घरों में ही पूजा अर्चना कर किया लॉकडाउन का पालन

April 15, 2020 | samvaad365

देशभर में लोग पूरी शिद्दत से लॉकडाउन का पालन कर रहे हैं। इस बीच सभी पर्वों को भी सादगी से घरों में मनाया जा रहा है, ताकि किसी भी तरह लॉकडाउन का उल्लंघन न हो। जौनसार के प्रसिद्ध बिस्सू पर्व का आगाज़ भी कुछ इसी तरह हुआ। जी हां सोमवार को फूलियात के साथ इस पर्व की शुरुआत हुई। इस दौरान घर के मुखियाओं ने जंगलों से बुरांश के फूल एकत्र कर घर के मुख्य द्वार को फूलों से सजाया। इसके साथ ही लोगों ने यहां पूरे परिवार के साथ देवताओं को यह पुष्प अर्पित करते हुए सुख और समृद्धि की कामना भी की।

वहीं लॉकडाउन के चलते इलाके के मंदिरों में ताले लटके रहे, हालांकि कुछ लोगों ने मंदिरों के बाहर से ही दर्शन किए। इस दौरान किसी भी मंदिर परिसर में देवता की डोली को श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए नहीं लाया गया।

जौनसार बावर हमेशा से ही अपनी विशेष संस्कृति के लिए जाना जाता है और यह पहला मौका है जब पर्व के मौके पर क्षेत्र के तमाम मंदिर परिसरों में सन्नाटा पसरा रहा।

बता दें कि बिस्सू पर्व हर साल वैशाख के महीने में मनाया जाता है। पांच दिवसीय इस पर्व की धूम कई गांवों में रहती है। इस दौरान कई स्थानों पर विशाल स्तर के मेलों का आयोजन भी किया जाता है। हालांकि कोरोना वायरस से फैली महामारी के चलते इस वर्ष सभी आयोजन रद्द कर दिए गए और लोगों ने लॉकडाउन के नियमों का स्वागत किया।

(संवाद 365/ पुष्पा पुंडीर )

यह खबर भी पढ़ें-जाने-माने मूर्तिकार और चित्रकार नवीन वर्मा ‘बंजारा’ का निधन

486020cookie-checkजौनसार में बिस्सू पर्व का आगाज़, लोगों ने घरों में ही पूजा अर्चना कर किया लॉकडाउन का पालन
48602

You may also like