बागेश्वर में फूड पॉइजनिंग का शिकार हुए मरीजों का हाल जानने पहुंची जिलाधिकारी रंजना राजगुरू

December 4, 2018 | samvaad365

बागेश्वर जनपद के कपकोट ब्लॉक व तहसील के दूरस्त गांव बास्ती में छः दिन पहले हुए शादी समारोह के बाद फूड पॉइजनिंग का शिकार हुये ग्रामीणों का हालचाल जानने जिलाधिकारी रंजना राजगुरू कांडा तहसील के बस्ती ग्राम घटना स्थल पहुंची। उन्होंने मौके पर जाकर ख़ुद ग्रामीणों से बातचीत की  और हरसंभव मदद करने का भरोसा दिलाया।  आपको बता दें कि 30 नवंबर को कपकोट ब्लॉक के गडेरा गांव से हरीश सिंह के पुत्र की बारात कांडा तहसील के बास्ती गांव में गई थी।

दोपहर में बारातियों समेत घरातियों ने बने भोजन में दाल, चावल, गडेरी, रायता खाया। शाम होते ही जब बारात वापस कपकोट तहसील के गडेरा गांव आई तो कई बारातियों का स्वास्थ्य बिगड़ने लगा। वहीं कन्या पक्ष कांडा तहसील के बास्ती गांव में भी दर्जनों ग्रामीण फूड पॉइजनिंग की चपेट में आ गए। उल्टी, दस्त होने पर गडेरा के ग्रामीणों को कपकोट के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया था और कांडा तहसील बास्ती के ग्रामीणों को तत्काल कांडा अस्पताल व पिथौरागढ़ तहसील के बेरीनाग सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया था।

डाक्टरों ने बताया कि सभी लोग फूड पॉइजनिंग की चपेट में आ गए हैं। इसी शादी में खुद दूल्हा-दुल्हन इसकी जद में आ गए, वहीं शादी में शिरकत करने   गए कपकोट के पूर्व विधायक ललित फस्वार्ण और जिला पंचायत अध्यक्ष  के गनर भी इसकी चपेट में आ गए थे जिनका इलाज हल्द्वानी के एक निजी अस्पताल में चल रहा है।

आपको बता दें कि अब तक फूड पॉइजनिंग के चलते चार लेागों की इलाज के दौरान मौत हो चुकी है। जिसमें दो बच्चे दो महिला शामिल है।  वहीं जिन अस्पतालों में इस घटना से संबंधित मरीजों का इलाज चल रहा है। वहां स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को मरीजों की सभी दवायें और रक्त के सभी टैस्ट निःशुल्क करने के निर्देश दिये गए हैं।

यह खबर भी पढ़ें-22 घंटे में फिल्म ‘SIMMBA’ के ट्रेलर ने बनाया ये नया रिकार्ड

यह खबर भी पढ़ें-विधानसभा सत्र का सीधा प्रसारण सुन सकेंगे सदन के बाहर भी,जानें पूरी ख़बर

बागेश्वर/हिमांशु गढ़िया

26598

You may also like