मुम्बई में फंसे प्रवासियों की मददगार बनीं प्रवासी सहयोगी टीम, लोगों को पहुंचाया उत्तराखंड

June 22, 2020 | samvaad365

कोरोना संकट के कारण आज कई जगह प्रवासी लोग फंस गए हैं.इन प्रवासी लोगों को घर पहुंचाने के लिए कई संस्थायें काम कर रहे हैं. इन्हीं संस्थाओ में एक है प्रवासी सहयोगी टीम. जो कि लगातार प्रवासियों को उत्तराखंड पहुंचाने का काम कर रही है. प्रवासी सहयोगी टीम की सदस्या श्वेता मासीवाल द्वारा हाईकोर्ट नैनीताल में याचिका दायर की गई. जिसके बाद न्यायालय के दिशा निर्देश पर श्रमिक ट्रेन चलाने की मंजूरी दी गई. प्रवासी सहयोगी टीम मुंबई की मुहीम से 16 जून 2020 को श्रमिक ट्रैन के माध्यम से प्रवासियों को उत्तराखंड भेजा गया. जिसमें ठाणे से लालकुआं तक ट्रेन चलाई गयी. इस पर प्रवासी सहयोगी टीम ने हाईकोर्ट नैनीताल का आभार जताया. इसके साथ ही प्रवासी सहयोगी टीम के द्वारा महाराष्ट्र सरकार के कैबिनेट मंत्री आदित्य ठाकरे और उनकी टीम का भी आभार व्यक्त किया. इसके साथ ही महाराष्ट्र पुलिस का धन्यवाद किया गया. इसके साथ ही प्रवासियों को उत्तराखंड भेजते वक्त प्रवासी सहयोगी टीम के सदस्य ठाणे स्टेशन में मौजूद रहे. जिससे यात्रियों को किसी भी प्रकार की दिक्कतों सामना न करना पड़े. साथ ही संस्था के द्वारा महाराष्ट्र के पालक मंत्री एकनाथ शिंदे और सांसद राजन विचारे का विशेष रुप से आभार व्यक्त किया गय़ा. आपको बता दें प्रवासियों को उत्तराखंड भजेते वक्त एकनाथ शिंदे और सांसद राजन विचारे रेलवे स्टेशन में मौजूद रहे.साथ ही दोनों नेताओ के द्वारा प्रवासी सहयोगी टीम का समस्यायें भी सुनी गई. इस मौके पर संस्था के कुंदन गरिया, नरेंद्र राजपूत,  नवीन चंद्र भट्ट, हर्षवर्धन मनराल,  दिलीप बिष्ट एवं बृजेश रावत, गोपाल गोस्वामी, एडवोकेट दुष्यंत मैनाली, अपूर्व जोशी, साहिल जोशी, सर्वोच्व न्यायालय के एडवोकेट गोपाल शंकरनारायण, आल इंडिया फारवर्ड ब्लॉक के राष्ट्रीय महासचिव देवव्रत विश्वास, महाराष्ट्र प्रदेश महासचिव रामेश्वर चोण्डा का सहयोग रहा. इसके साथ ही कई संस्थाओ का प्रवासियों को उत्तराखंड भेजने में सहयोग रहा.

जिसमें कोस्टल इंडिया, अक्षय पात्रा फाउंडेशन, लीड फाउंडेशन, राहुल कनान फाउंडेशन, यूनिसेफ, जीवन रथ, करोन मेडम, कोस्ट ट्रेवल रिलीफ टीम, काफल फाउंडेशन एवं देव भूमि सांस्कृतिक कला मंडल ठाणे, हरीश दसौनी का सहयोग रहा. इसके साथ ही इन संस्थाओ के द्वारा उत्तराखंड जाने वाले यात्रिओं को भोजन, पानी आदि की व्यवस्था की गयी. इस मौके पर प्रवासी सहयोगी टीम की सदस्या स्वाति मासीवाल ने सभी का धन्यवाद किया. उन्होने कहा कि सभी के प्रयासों से आज मुम्बई में फंसे प्रवासी उत्तराखंड पहुंच सके.इस मुहीम को सफल बनाने में मुंबई के सभी संस्थाओं और संगठन से जुड़े लोगों ने हाथ मिलाकर प्रवासियों की मदद की. जिसमें मोहन चंद्र जोशी, कुंदन गरिया, श्वेता मासीवाल शर्मा, प्रदीप सिंह रावत, गगन शर्मा, नवीन चंद्र भट्ट, सुधाकर थपलियाल, कैलाश उदय चंद, दान सिंह राजपूत, अशोक मुरारी, प्रदीप रावत, गजेंद्र रावत, पप्पू बर्थवाल, दिलीप बिष्ट, लोकेन्द्र ओझा, हरीश दसौनी, प्रताप सिंह कार्की, देव चंद, महेंद्र गुसाई, जयप्रकाश सभापति, मनीष रावत, अवतार नेगी, केदार धर्मानंद जोशी, मेडी रावत, मोहन मेहरा, विजय बंगारी, शशि नेगी, माधव सिंह राजपूत, चामू सिंह राणा, दिनेश अंथवाल, मोहन बिष्ट का विशेष तौर पर सहयोग रहा. कोरोना संकट में मुम्बई में फंसे प्रवासियों को उत्तराखंड भेजने औऱ सहयोग के लिए प्रवासी सहयोगी टीम मुंबई का कार्य सराहनीय है. जिनके कारण प्रवासी आज उत्तराखंड पहुंच सके.

प्रदीप रावत/संवाद365

510660cookie-checkमुम्बई में फंसे प्रवासियों की मददगार बनीं प्रवासी सहयोगी टीम, लोगों को पहुंचाया उत्तराखंड
51066

You may also like