रिस्पना पुनर्जीवन पर खोकले वादे करने पर मैड ने की निंदा

December 8, 2018 | samvaad365

देहरादून में प्रेस क्लब में शिक्षित छात्रों के संगठन,मेकिंग अ डिफरेंस बाय बीइंग द डिफरेंस (मैड) संस्था की ओर से आयोजित प्रेस वार्ता में राज्य सरकार को रिस्पना पुनर्जीवन पर खोकले वादे करने पर उसकी निंदा की गई। मैड ने ऐलान किया कि अपने 100 स्वयंसेवियों के संग रिस्पना के सबसे दूषित क्षेत्र दीपनगर में रविवार सुबह नदी में उतर कर सफाई अभियान चलाने की तैयारी में हैं।छात्रों ने आह्वाहन किया कि अधिक से अधिक दूनवासी पर्यावरण संगरक्षक के इस अभियान से जुड़कर इसे एक मुहिम का रूप देने में सहायता करें।

मौके पर मैड की ओर से विनोद बगियाल ने कहा कि जुलाई में जहां पौधे रोपे गये उनकी एक टुकड़ी उन क्षेत्रों का जायज़ा नवंबर अंत में लेकर आई है और उसने पाया कि तपोभूमि आश्रम सहित कई क्षेत्रों में बिना किसी रख रखाव के कारण वह पौधे बचने में असमर्थ रहे।

सरकार को अपनी निंद्रा तोड़ने की जरूरत है।

वर्ष 2017 में जैसे ही नई सरकार बनी ,मैड का एक प्रतिनिधि मंडल मुख्यमंत्री से मिला और रिस्पना पुनर्जीवन की ओर उनका ध्यान आकर्षण करने की चेष्टा की। इसी के फलस्वरूप सरकार द्वारा मैड को शामिल करते हुए जुलाई 2018 तक कई बैठकें और वृक्षारोपण किया गया।

यह ख़बर भी पढ़े- युवा कल्याण विभाग, देहरादून द्वारा युवा महोत्सव 2018 का आयोजन

यह ख़बर भी पढ़े-  चारधाम परियोजना प्रभावित संघर्ष समिति और व्यापारियों के जिला बंद का असर

देहरादून/संध्या सेमवाल

26943

You may also like