शहीद हुए उत्तराखंड के लाल के घर जन्म लिया ‘शौर्यवीर’ ने

December 6, 2018 | samvaad365

बीते अगस्त में 36 राष्ट्रीय राइफल्स में तैनात राइफलमैन कश्मीर में हमीर पोखरियाल देश की रक्षा करते हुए शहीद हो गए थे। शहीद को अंतिम विदाई देने जब सड़को पर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा था। मूलरूप से उत्तरकाशी जिले के पोखरियाल गांव के रहने वाले थे शहीद हमीर पोखरियाल। हमीर की पत्नी उस वक्त गर्भवती थीं, जब वो शहीद हुए थे । अब शहीद हमीर के पुत्र ने इस धरती पर जन्म लिया। मासूम का नाम उसके दादा जी ने शौर्यवीर रखा है। दादा जयेंद्र पोखरियाल का कहना है कि वे अपने पोते को भी देश की रक्षा के लिए सेना में भेजेंगे। उनका ये भी कहना था कि हमीर के रूप में शौर्य वीर के जन्म के बाद उनके घर में एक बार फिर खुशियां लौट आई हैं। वास्तव में ये एक भावुक पल था। परिवार के सदस्यों के चेहरे पर खुशी और आंखों में आंसू थे।

गम इस बात का कि हमीर अब इस दुनिया में नहीं है, खुशी इसलिए क्योंकि हमीर के बेटे ने जन्म लिया है। शहीद पोखरियाल का परिवार ऋषिकेश के श्यामपुर ,कपुरफार्म कुंजापुरी कॉलोनी में रह रहा है। शहीद हमीर पोखरियाल के पिता भी SSB में है। दादा ने अपने हाथ में पोते को लिया तो मानों खुशी से गला रूंध गया। दादा अब गर्व से कहते हैं कि ‘मैं पोते को भी सेना में ही भेजूंगा’। आपको बता दें कि हमीर पोखरियाल भारतीय सेना में 36 राष्ट्रीय राइफल में तैनात थे। अगस्त के महीने में वो बांदीपुरा में तैनात थे। 7 अगस्त की शाम को आतंकियों ने गुरेज सेक्टर में घुसपैठ कर दी थी। इस भयंकर गोलाबारी में हमीर पोखरियाल शहीद हो गए। पूरे देश ने उन्हें नम आंखों से आखिरी विदाई दी थी।

26770

You may also like