रुद्रप्रयाग: प्रवासियों को रोजगार देने की कवायद तेज, न्याय पंचायत स्तर पर आयोजित हो रही हैं कार्यशालाएं

July 11, 2020 | samvaad365

रुद्रप्रयाग: कोविड-19 से हुए लाॅकडाउन से अकेले रूद्रप्रयाग जनपद में बीस हजार से अधिक प्रवासी घर आ गए हैं। ऐसे में इन लोगों के सामने रोजगार का संकट भी गहरा गया है। इसी को देखते हुए सरकारों ने भी बेहतर कार्ययोजनाएं तैयार की हुई हैं। युवा अधिक से अधिक सरकारी योजनाओं का लाभ ले इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा न्याय पंचायत स्तर पर कार्याशालाओं का आयोजन किया जा रहा है जिसमें प्रवासियों को विभिन्न सरकारी योजनाओं की जानकारी दी जा रही है ताकि प्रवासी सरकारी योजनाओं का लाभ लेकर आत्मनिर्भता की ओर बढ़े।

कृषि, बागवानी, पशुपालन, मत्य एवं मौन पालन आदि क्षेत्रों में स्वरोजगार की अथाह संभावनाएं यहां मौजूद हैं। जबकि सरकार की ओर से  की भी इन्ही क्षेत्रों में अनेकों ऐसी योजनाएं संचालित की जा रही हैं जिनका लाभ लेकर आसानी से प्रवासी इस दिशा में बेहतर कार्य अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं।

अगर वास्तव में युवा इस दिशा में आगे बढ़ते हैं, और सरकारें ईमानदारी से योजनाओं का  लाभ आम जन मानस को देती हैं तो न केवल पहाड़ लौटे प्रवासियों को यहां रोका जा सकता है, बल्कि आने वाली भावी पीढ़ियों को भी पहाड़ में ही रोजगार से जोड़ा जा सकेगा।

यह खबर भी पढ़ें-देहरादून: सीएम रावत ने संस्कृति विभाग के निर्माणाधीन प्रेक्षागृह और संग्रहालय का किया निरीक्षण

संवाद365/कुलदीप राणा

517850cookie-checkरुद्रप्रयाग: प्रवासियों को रोजगार देने की कवायद तेज, न्याय पंचायत स्तर पर आयोजित हो रही हैं कार्यशालाएं
51785

You may also like