एनएसयूआई द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष जी की छवि धूमिल करने हेतु पुतला दहन किया गया

July 31, 2020 | samvaad365

28 जुलाई को एनएसयूआई द्वारा हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष जी की छवि धूमिल करने हेतु पुतला दहन किया गया। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर एस सुबैय्या जी विरुद्ध स्थानीय ठाणे में की गई शिकायत को शिकायतकर्ता श्री बालाजी विजयराघवन द्वारा वापस ले लिया गया। दोनों परिवारों के बिच की भातियों दूर हो गई थी।
पुतला दहन कार्यक्रम में एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष मोहन भंडारी, जिला अध्यक्ष सौरभ मंगाई, आयुष गुप्ता पार्षद लखीबाग , अभिषेक डोबरियाल, जिला महा सचिव एनएसयूआई अंकित बिष्ट,सागर मनियारी, उदित थपलियाल, वासु शर्मा आदि शामिल थे।
एनएसयूआई द्वारा करनपुर स्तिथ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यलय का घेराव किया गया तथा जिसकी वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर अभाविप की छवि को धूमिल करने का प्रयास किया जिससे छात्रों के बिच उन्माद एवं तनाव फ़ैलाने का प्रयास किया जा रहा है। जिससे अभाविप एवं एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं के मध्य वैयमनस बढ़ सकता है तथा सेहर की शांति व्यवस्था भी भंग होने का खतरा है। एनएसयूआई द्वारा अभाविप के राष्ट्रीय अध्यक्ष जी एवं अभाविप के विरुद्ध गलत मानसिकता से परिपूर्ण घटिया षडयंत्रकारी राजनीती कर रहे है जिससे समाज में अभाविप की छवि धूमिल हो रही है। इनके इस गलत कृत्य से समाज में गलत सन्देश जा रहा है। सोशल मीडिया पर गलत सन्देश भेजकर गलत राजनीती कर रहे है। जिसका अभाविप पूर्ण विरोध करना है, जिसकी पूर्ण जिम्मेदारी एनएसयूआई के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं की है।

एनएसयूआई द्वारा उक्त पुतला दहन की प्रशासन से अनुमति प्राप्त नहीं की गई थी तथा कोवीड -19 के बढ़ते खतरे को देखते हुए एनएसयूआई द्वारा सरकार /शासन /प्रशासन /पुलिस प्रशासन द्वारा जारी दिशा निर्देशों का खुल्लम खुल्ला उल्लंघन किया गया है तथा एनएसयूआई द्वारा उपरोक्त विरोध प्रदर्शन बिना किसी तथ्यों के आधार पर किया गया। पुतला दहन कार्यक्रम में आयोजकों व अभाविप के प्रदेश कार्यलय के घेराव में शामिल एनएसयूआई /कार्यकर्ताओं के विरुद्ध क़ानूनी कार्यवाही हेतु रिपोर्ट थाना डालनवाला में कल 28 जुलाई 2020 को दर्ज़ करा दी गई थी। यदि पुलिस प्रसाशन द्वारा एनएसयूआई के पुतला दहन कार्यक्रम में शामिल एनएसयूआई के पदाधिकारियों/कार्यकर्ताओं के विरुद्ध कार्यवाही नहीं करती है तो अभाविप पुरे प्रदेश में उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होगी। प्रेसवार्ता में अभाविप महानगर मंत्री अश्विनी पांडेय , जिला सहसंयोजक ऋषभ रावत ,प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य एवं एमकेपी छात्र संघ अध्यक्ष मनीषा राणा , गढ़वाल छात्रा प्रमुख तान्या वालिया शामिल थे।संवाद365 /कोमल राजपूत

यह भी पढ़िए:    बड़ी खबरः ओमप्रकाश बने उत्तराखंड के नए मुख्य सचिव

संवाद365 /कोमल राजपूत

525420cookie-checkएनएसयूआई द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष जी की छवि धूमिल करने हेतु पुतला दहन किया गया
52542

You may also like