Category: उत्तराखंड इतिहास

धूमधाम से मनाया जाता है पहाड़ों में बग्वाल का पर्व

पहाड़ के अधिकांश क्षेत्रों में मनाई जाने वाली बग्वाल पर्व को लेकर लोगों में बङा उत्साह देखने को मिला। खासकर हम बात करते हैं, जौनपुर का बग्वाल पर्व जिसको लेकर युवाओं में खासा उत्साह दिखाई दिया, बग्वाल पर्व में पहाङ में पाई जाने वाली खास किस्म की बावला घास की एक रस्सी ढोल नगाङों के … Continue reading "धूमधाम से मनाया जाता है पहाड़ों में बग्वाल का पर्व" READ MORE >

Positive SSL

VIDEO: गढ़वाल भ्रातृ मंडल के महासचिव रमनमोहन कुकरेती 47 सालों से कर रहे हैं उत्तराखंड के लिए काम

मुंबई महाराष्ट्र में उत्तराखंड के लोगों के लिए काम करने वाले और गढ़वाल भ्रातृ मंडल के महासचिव के रुप में कार्यरत रमनमोहन कुकरेती पिछले 47 सालों से इस संस्था के साथ जुड़ें हुए हैं। यह एक ऐसी संस्था है जो पिछले 90 सालों से उत्तराखंड के लोगों के लिए कार्यरत्त है। यह संस्था सन् 1918 से … Continue reading "VIDEO: गढ़वाल भ्रातृ मंडल के महासचिव रमनमोहन कुकरेती 47 सालों से कर रहे हैं उत्तराखंड के लिए काम" READ MORE >

Positive SSL

नहीं थम रहा विवाद हाईकोर्ट पहुंचा केदारनाथ मूवी का मामला

विवादों से घिरी सारा अली खान और सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म केदारनाथ का मामला अब हाईकोर्ट तक पहुंच गया है। उत्तराखण्ड की संस्कृति और परंपराओं को ताक पर रखकर बनी फिल्म केदारनाथ की रिलीज पर उठे विवाद के बीच उच्च न्यायालय में याचिका दायर की गई है। याचिका में आरोप लगाया गया है कि भगवान … Continue reading "नहीं थम रहा विवाद हाईकोर्ट पहुंचा केदारनाथ मूवी का मामला" READ MORE >

Positive SSL

क्या है 30 नवंबर का इतिहास ? जानिए क्यों खास है उत्तराखंड के लिए ये तारीख

30नवम्बर 1814 में अंग्रेजों और गोरखों के बीच खलंगा युद्ध समाप्त हुआ था, और 30 नवम्बर 1786 को ही पहाड़ों की रानी मसूरी को एक बेहतरीन शहर की ओर विकसित करने वाले जनरल फ्रेड्रिक यंग का जन्म भी हुआ था। 1814 में टिहरी नरेश व गोरखाओं का युद्ध चल रहा था जिसमें गोरखाओं ने पूरे राज्य में आतंक मचा … Continue reading "क्या है 30 नवंबर का इतिहास ? जानिए क्यों खास है उत्तराखंड के लिए ये तारीख" READ MORE >

Positive SSL

इतिहास के आइने में देखिए गढ़वाल भ्रातृ मंडल मुंबई का सफर

गढ़वाल भ्रातृ मंडल, मुंबई’ को उत्तराखंडियों की प्राचीनतम एवं प्रतिनिधि संस्था होने का गौरव प्राप्त है। पहाड़ी बंधुओं के संगठन की परिकल्पना को लेकर 1928 में संस्थापित यह संस्था विगत 90 वर्षों से उत्तराखंडियों के सामाजिक, सांस्कृतिक एवं शैक्षणिक सरोकारों के लिए प्रतिबद्ध रही है। मंडल के समर्पित कार्यकर्ताओं के सकारात्मक व सक्रिय सहयोग के … Continue reading "इतिहास के आइने में देखिए गढ़वाल भ्रातृ मंडल मुंबई का सफर" READ MORE >

Positive SSL

देहरादून में होगा दो दिवसीय गढ़ कौथिग का आयोजन,दिखेगी देवभूमि की छटा

गढ़वाल भ्रातृ मंडल संस्था की ओर से उत्तराखंड राज्य स्थापना की 18वीं वर्षगांठ के अवसर पर दो दिवसीय गढ़ कौथिग का आयोजन किया जा रहा है। क्लेमेनटाउन स्थित पिपेलश्वर मंदिर बैल रोड में आयोजित मेले में पारंपरिक गढ़वाली लोकनृत्य, गीत-संगीत, वाद्य यंत्र, खान-पान की झलक देखने को मिलेगी। मेले का मुख्य आकर्षण गढ़वाली ढोल दमो, मशकबाज की धुन होगी। गुरुवार … Continue reading "देहरादून में होगा दो दिवसीय गढ़ कौथिग का आयोजन,दिखेगी देवभूमि की छटा" READ MORE >

Positive SSL

संपन्न हुई केदारनाथ यात्रा लेकिन इस बार टूटा ये रिकॉर्ड

चारधाम यात्रा में इस वर्ष की केदारनाथ यात्रा ने नए कीर्तिमान स्थापित किए हैं, इस बार यात्री सुविधाओं और रिकार्ड यात्रीयों की संख्या से लेकर मंदिर समिति की रिकार्ड आय ने सभी के चेहरे खिला दिए हैं । वहीं 2013 की त्रासदी से छिन्न भिन्न हुई व्यवसाय को भी पटरी पर ला दिया है। भगवान … Continue reading "संपन्न हुई केदारनाथ यात्रा लेकिन इस बार टूटा ये रिकॉर्ड" READ MORE >

Positive SSL

इस बॉंध के वजूद में आने से 123 गांवों के साथ जलमग्न हो जाएंगे कई ऐतिहासिक धार्मिक स्थल

विश्व के सबसे बड़े बांधों में से एक पंचेश्वर बॉंध के बनने से भारत-नेपाल की ऊर्जा जरूरतें भले ही पूरी होंगी। मगर इस बॉंध के वजूद में आने से 123 गांवों के साथ ही कई ऐतिहासिक धार्मिक स्थल भी जलमग्न हो जाएंगे। प्रस्तावित डूब क्षेत्र में दोनों मुल्कों के 89 ऐसे महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल हैं,जिनसे लोगों की … Continue reading "इस बॉंध के वजूद में आने से 123 गांवों के साथ जलमग्न हो जाएंगे कई ऐतिहासिक धार्मिक स्थल" READ MORE >

Positive SSL

हवेलियां तब्दील होती जा रही खंडहरों में,प्रशासन नहीं ले रहा कोई सुध

आजादी से पहले जुल्म की दास्तानों की कई यादें आज भी रुद्रप्रयाग जनपद में मौजूद हैं चाहे ककोडाखाल की कुली बेगार प्रथा हो या फिर तत्कालीन देवलगढ परगना की मशहूर डुंग्रा गांव स्थित जेल। 11 कमरों की इस जेल के अब खण्डहर ही शेष बचे हैं मगर इन खण्डहरों को देखकर साफ कहा जा सकता … Continue reading "हवेलियां तब्दील होती जा रही खंडहरों में,प्रशासन नहीं ले रहा कोई सुध" READ MORE >

Positive SSL

शानदार : इस योजना से पर्वतीय क्षेत्रों के गांवों में दिख रहा है बदलाव

उत्तराखण्ड राज्य के 8 जनपदों में विश्व बैंक द्वारा वित्त पोषित, उत्तराखण्ड विकेन्द्रीकृत जलागम विकास परियोजना (ग्राम्या-2) वर्ष 2014-15 से क्रियान्वित की जा रही है। प्रत्येक छः माह के अन्तराल पर, विश्व बैंक मिशन टीम द्वारा परियोजना क्षेत्रों के अर्न्तगत कराये गये कार्यों का निरीक्षण किया जाता है तथा निरीक्षणोपरान्त अपने सुझाव भी प्रदान किये … Continue reading "शानदार : इस योजना से पर्वतीय क्षेत्रों के गांवों में दिख रहा है बदलाव" READ MORE >

Positive SSL