Category: उत्तराखंड इतिहास

अमेरिका में भी मनाया जा रहा उत्तराखंड का इगास बग्वाल

उत्तराखंड एसोसिएशन ऑफ़ अमेरिका द्वारा वाशिंगटन के सीएटल शहर में इगास एवं पहाड़ी बग्वाल मनाई गयी। यह पहली बार हो रहा है जब उत्तराखंड का लोक पर्व इगास अमेरिका जैसे देश में मनाई जा रही है। अपनी लोक संस्कृति को बचाने के लिए तथा अपनी आने वाली पीढ़ी को लोक संस्कृति से जोड़ने के लिए … Continue reading "अमेरिका में भी मनाया जा रहा उत्तराखंड का इगास बग्वाल" READ MORE >

Uttarakhand : सीएम धामी ने ‘‘प्रगति पथ से प्रकृति पथ’’ कार्यक्रम में किया प्रतिभाग

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि हमारी ईकोलॉली, पर्यावरण, वन संपदा हमारी सबसे बड़ी सम्पति है। ऐसे में पर्यावरण संरक्षण के लिए हमारी जिम्मेदारी भी सबसे बड़ी है। हमें लोगों को विशेषकर युवाओं को पर्यावरण संरक्षण, जल संरक्षण, वृक्षारोपण के लिए जागरूक करना होगा। इसके साथ ही स्कूली बच्चों को वृक्षारोपण के लिए प्रोत्साहित … Continue reading "Uttarakhand : सीएम धामी ने ‘‘प्रगति पथ से प्रकृति पथ’’ कार्यक्रम में किया प्रतिभाग" READ MORE >

उत्तराखंड स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में प्रसून जोशी सहित 5 विभूतियों को मिला पुरस्कार

उत्तराखंड राज्य स्थापना दिवस पर पुलिस लाइन में आयोजित कार्यक्रम में भारतीय फिल्म सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल सहित पांच विभूतियों को उत्तराखंड गौरव सम्मान ने नवाजा गया। उत्तराखंड सरकार ने उत्तराखंड गौरव सम्मान पुरस्कार के लिए पांच अलग-अलग क्षेत्रों में उत्कृष्ट योगदान के लिए पांच विभूतियों को पुरस्कार के लिए चुना। … Continue reading "उत्तराखंड स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में प्रसून जोशी सहित 5 विभूतियों को मिला पुरस्कार" READ MORE >

Uttarakhand : प्रदेशभर में मनाया जाएगा इगास बग्वाल, सीएम धामी ने प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं

उत्तराखंड का लोक पर्व इगास प्रदेश भर में आज शुक्रवार को धूमधाम से मनाया जाएगा। मुख्यमंत्री आवास पर भी इस उपलक्ष्य में उत्सव होगा। भाजपा बूथ स्तर तक इगास पर्व मनाएगी। पार्टी ने प्रवासियों से पैतृक गांवों में पहुंचकर इगास मनाने का आह्वान किया है। लोक पर्व ईगास और बूढी दिवाली पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह … Continue reading "Uttarakhand : प्रदेशभर में मनाया जाएगा इगास बग्वाल, सीएम धामी ने प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं" READ MORE >

देहरादून के परेड ग्राउंड में आजादी के दिन हज़ारों लोगों ने मनाया गया था जश्न, आज भी जारी है ये परंपरा

15 अगस्त 1947 को देहरादून में जश्ने आजादी का उल्लास सिर चढ़कर बोल रहा था। जहां अंग्रेजी सैनिकों की कदमताल और मार्च पास्ट होता था। वहां पर खिलखिलाते बच्चे, ऊर्जावान युवा व अतीत के संघर्षमय जीवन से तपे हुए बुजुर्ग चले आ रहे थे। जनकवि डा.अतुल शर्मा बताते हैं कि 1946 में फिरोजपुर जेल के … Continue reading "देहरादून के परेड ग्राउंड में आजादी के दिन हज़ारों लोगों ने मनाया गया था जश्न, आज भी जारी है ये परंपरा" READ MORE >

उत्तराखंड के इस शहर से गुजरने से डरते थे अंग्रेज़ अफसर…

उत्तराखंड के पंच प्रयागों में एक नंदप्रयाग की पहचान एक धार्मिक और आध्यात्मिक कस्बे के तौर पर है। लेकिन आजादी के महासंग्राम में इस तीर्थस्थल ने अंग्रेजों को घुटनों के बल चलने के लिए मजबूर किया। स्थिति यह थी कि क्रांतिकारियों को देखकर नंदप्रयाग से गुजरते वक्त अंग्रेज अफसर भी सिर से अपना हैट उतार … Continue reading "उत्तराखंड के इस शहर से गुजरने से डरते थे अंग्रेज़ अफसर…" READ MORE >

पेशावर कांड के नायक वीर चंद्र सिंह गढ़वाली की आज पुण्यतिथि

वीर चंद्र सिंह गढ़वाली की आज पुण्यतिथि है । हर कोई उन्हें नमन कर रहा है।  25 दिसंबर 1891 को जलौथ सिंह भंडारी के घर पर ​जन्में चंद्र सिंह 3 सितंबर 1914 को सेना में भर्ती हुए, 1 अगस्त 1915 को उन्हें सैनिकों के साथ अंग्रेजों ने फ्रांस भेज दिया। 1 फरवरी 1916 को वे … Continue reading "पेशावर कांड के नायक वीर चंद्र सिंह गढ़वाली की आज पुण्यतिथि" READ MORE >

हल्द्वानी के हाउल संस्था के लोग आवारा जानवरो की कर रहे मदद ,इंसानियत आज भी जिंदा है

आज के समय लोगो के पास किसी की मदद करने के लिए समय नही है , तो जानवरो की मदद करना तो दूर की बात, लेकिन हल्द्वानी के कुछ लोग ऐसे है जो आवारा जानवरो की मदद कर रहे जिनको देख कर कहा जा सकता है इंसानियत आज भी जिंदा है । आपने अक्सर शहर … Continue reading "हल्द्वानी के हाउल संस्था के लोग आवारा जानवरो की कर रहे मदद ,इंसानियत आज भी जिंदा है" READ MORE >

110 साल पहले उत्तराखंड का मालदार खण्डूड़ी परिवार टाटा बिड़ला की बराबरी कर रहा था

उत्तराखंड का दुनिया में ऐतिहासिक दृष्टि से महत्व भी है. यहाँ केरल से चलकर आदि शंकराचार्य ने केदारनाथ मंदिर आठवीं सदी से बनाया। उसी सदी में पंवार वंश की शुरुआत हुई. जिसका राजपाठ देश की आजादी तक चला। यहाँ गोविन्द बल्लभ पंत, भक्त दर्शन, एचएन बहुगुणा, मानवेंद्र शाह जैसे नेता पैदा हुए,जिन्होंने आज़ादी से पहले … Continue reading "110 साल पहले उत्तराखंड का मालदार खण्डूड़ी परिवार टाटा बिड़ला की बराबरी कर रहा था" READ MORE >

ककोड़ाखाल आंदोलन के 100 साल पूरे, रूद्रप्रयाग में स्वतंत्रता सेनानियों को किया गया याद, हरीश रावत भी पहुंचे

ककोड़ाखाल आंदोलन के 100 साल पूरे अनुसूया प्रसाद बहुगुणा के नेतृत्व में हुआ था आंदोलन स्वतंत्रता सेनानियों को किया गया याद हरीश रावत ने भी कार्यक्रम में की शिरकत स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास में रूद्रप्रयाग जिले की ऐतिहासिक स्थली ककोड़ाखाल में जब कुली बेगार प्रथा की 100वीं वर्षगाठ मनाई गई तो ब्रिटिश हुकूमत के काले … Continue reading "ककोड़ाखाल आंदोलन के 100 साल पूरे, रूद्रप्रयाग में स्वतंत्रता सेनानियों को किया गया याद, हरीश रावत भी पहुंचे" READ MORE >