कोरोना संक्रमित मां ने अपना दूध बच्चो को पिलाया और वायरस नवजातों के पास न आ पाया

August 10, 2020 | samvaad365

कोरोना संक्रमित मां का दूध पीने वाले नवजात तक संक्रमण नहीं पहुंचा सका। दून मेडिकल कॉलेज के महिला विंग में संक्रमित महिलाओं के प्रसव के मामले इसकी तस्दीक कर रहे हैं। 29 संक्रमित महिलाओं ने यहां प्रसव के बाद नवजात को स्तनपान कराया। लेकिन कोई भी नवजात जानलेवा वायरस की चपेट में नहीं आ पाया। अस्पताल के डॉक्टर अब इस पर शोध कर रहे हैं।

मां का दूध बच्चों के लिए सबसे बढ़िया टॉनिक बताया गया

विशेषज्ञों के मुताबिक मां का दूध बच्चे के लिए सबसे बढ़िया टॉनिक है। महिला विंग की एचओडी डॉ चित्रा जोशी और वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ रीना पाल ने बताया कि कोरोना काल में विभिन्न अस्पतालों से रेफर और पाबंद कॉलोनियों से कुल 125 मामले आए। उन्होंने बताया कि इनमें 38 महिलाएं कोरोना संक्रमित मिलीं। इनमें 29 महिलाओं ने नवजात को स्तनपान कराया। इस दौरान बच्चे को संक्रमण से बचाना चुनौती था।

यह भी पढ़े: उत्तराखंड राज्यपाल सचिवालय की अधिकारी के कोरोना संक्रमित होने के कारण सोमवार को सचिवालय रहेगा बंद
529270cookie-checkकोरोना संक्रमित मां ने अपना दूध बच्चो को पिलाया और वायरस नवजातों के पास न आ पाया
52927

You may also like