शाम होते होते विवादों में आ गई बाबा रामदेव की कोरोना किट

June 24, 2020 | samvaad365

योगगुरू बाबा रामदेव ने मंगलवार को कोरोना की दवाई बनाने का दावा करते हुए कोरोनिल नाम की दवा लांच कर दी। लेकिन अब इस दवाई पर विवाद शुरू हो गया है। बाबा रामदेव ने ये दावा किया था कि यह दवाई सौ फीसदी कारगर है और कोरोना के रोगियों को ठीक करती है। लेकिन इस दवाई पर आयुष मंत्रालय ने बयान जारी करते हुए दवाई के प्रचार पर रोक लगा दी है साथ ही इस दवाई की पूरी जानकारी भी पतंजलि से मांगी है। मंत्रालय ने इस दवा को मंजूरी ही नहीं दी और बाबा रामदेव ने दवाई को लांच कर दिया।

आपको बता दें कि आयुष मंत्रालय ने स्वतः ही इस दवाई का संज्ञान लिया जिसके बाद आयुष मंत्रालय ने पतंजलि से इवाई के बारे में जानकारी मांगी है साथ ही इसके तत्वों का विवरण भी मांगा गया है। 545 रूपए की कोरोना किट के बारे में पूछे गए सवालों पर अब पतंजलि भी जवाब दे रही है। रामदेव का दावा है कि सभी मानकों का पालन किया गया है।  पतंजलि रिसर्च इंस्टीयट्यूट और नेशनल इंस्टीकट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, जयपुर ने मिलकर बनाई है. साथ ही यह एक रिसर्च बेस्ड दवा है जिसके दो ट्रॉयल किए गए हैं.  पहला क्लिनिकल कंट्रोल स्टडी और दूसरा क्लीनिकल कंट्रोल ट्रॉयल.

(संवाद 365/डेस्क)

यह भी पढें-विश्व में भक्ति और शांति का संदेश दे रही हैं देवभूमि उत्तराखंड की बेटी राधिका जी केदारखंडी

511160cookie-checkशाम होते होते विवादों में आ गई बाबा रामदेव की कोरोना किट
51116

You may also like